तेजन्यूजहेडलाईन्सचा तिसऱ्या वर्धापण दिन व दिवाळी निमित्त सर्व वाचकांना हार्दिक शुभेच्छा!

Friday, 10 April 2020

घरों में बंद हुए इंसान, तो बेजुबानों का मददगार बने समाज सेवक



पर्यावरण जनजागृती और पशुओको देते है आधार

मंगरुलपीर: दि.10अप्रैल
पूरा विश्व कोविड-19 महामारी की भयावहता से जूझ रहा है अपनी सुरक्षा के लिए इंसान घरों में बंद है ऐसे में घरों से मिलने वाले भोजन के टुकड़ों से पेट भरने वाले बेजुबानों पर संकट मंडराने लगा है लॉकडाउन के दौरान मानवीय गतिविधियां थमने से इन पशु-पक्षियों को भोजन की तलाश नहीं पूरी हो रही है ऐसे में कुछ समाज सेवकों ने इन्हें मदद की पहल शुरू की है
भोजन की तलाश में भटक रहे कुत्ते, बंदर व मवेशियों की मदद के लिए इस संकट की घड़ी में शहर के समाज सेवक फुलचंद भगत एवं  परिवार आगे आए है जिससे की किसी भी जानवर को इन दिनों में भुखमरी व अकाल मृत्यु का शिकार न होना पड़े यह पहले भी स्वयं तथा कई विभागों के साथ मिलकर जीवों व पर्यावरण संरक्षण का कार्य कर चुकी है समाज सेवक फुलचंद भगत ने बताया कि यह  जीव इंसानों की दिनचर्या पर निर्भर थे, लाकडाउन से इंसान घरों में बंद हैं, और ये जीव बाहर भूखे मर रहे हैं इसके निदान के लिए मैन और परिवार की ओर से -जीव आपदा राहत प्रबंध की शुरुआत की गई है वे निराश्रित जीवों को भोजन करा रही है

फुलचंद भगत
मंगरुळपीर/वाशिम
मो.8459273206/9763007835

No comments:

Post a comment